पश्चिम बंगाल रेल हादसा: कंचनजंगा एक्सप्रेस हादसे में मरने वालों की संख्या 15 हुई, लोको पायलट की भी मौत, राहत बचाव कार्य जारी

Travel क्राइम

DESK: पश्चिम बंगाल के दर्जिलिंग में बड़ा रेल हादसा हुआ है। दार्जिलिंग जिले में मालगाड़ी ने कंचनजंगा एक्सप्रेस ट्रेन को जोरदार टक्कर मार दी है। इस हादसे में कई लोगों के घायल होने की आशंका जताई जा रही है। वहीं जानकारी अनुसार इस हादसे में अब तक 15 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 60 से अधिक लोग घायल हैं। मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका भी जताई जा रही है। इस घटना में लोको पायलट अनिल की मौत हो गई है वहीं साथी मोनू अस्पताल में भर्ती है।

 

दरअसल, कटिहार मंडल के रंगापानी और निजबाड़ी वाली स्टेशन के बीच में स्टेशन पर खड़ी कंचनजंगा एक्सप्रेस को पीछे से मालगाड़ी ने धक्का मार दिया। कंचनजंगा एक्सप्रेस के करीब तीन बोगी पटरी से नीचे उतर गई। धक्का इतना तेज था कि एक बोगी-दूसरी बोगी पर चढ़ गया। घटना की सूचना पर कटिहार रेल मंडल में हड़कंप मच गया है। कटिहार और एनजेपी से एक्सीडेंटल रिलीफ ट्रेन और मेडिकल वैन लेकर रेलवे के अधिकारी घटनास्थल की और कूच कर गए हैं। बताया जाता है कि घटना में करीब 200 से अधिक लोग जख्मी हुए हैं। इस घटना में कितने लोगों की मौत हुई है। इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है, लेकिन घटनास्थल से जो वीडियो वायरल हो रहा है।

 

कंचनजंगा रेल हादसे पर रेलवे बोर्ड की चेयरपर्सन और सीईओ जया वर्मा सिन्हा ने कहा, ‘इस घटना के मामले में ऐसा लगता है कि मानवीय गलती थी। शुरुआती जांच में पता चलता है कि यह मसला सिग्नल को नजरअंदाज कर ट्रेन को आगे बढ़ाने का है।’ उन्होंने कहा कि हमें ‘कवच’ सिस्टम को बढ़ाना होगा, जिसके चलते ट्रेनों की भिड़ंत को टाला जा सकता है।

 

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “ट्रेन दुर्घटना में अब तक 15 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 60 लोग घायल हैं। इससे पहले, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण हादसा पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे जोन में हुआ। बचाव अभियान युद्ध स्तर पर चल रहा है। रेलवे, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) समन्वय के साथ काम कर रहे हैं। घायलों को अस्पताल पहुंचाया जा रहा है। वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं।’

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पश्चिम बंगाल में न्यू जलपाईगुड़ी के समीप ट्रेन हादसे पर गहन दुख जताया और मृतकों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दो-दो लाख रुपए तथा घायलों को 50-50 हजार रूपये अनुग्रह राशि दिये जाने की घोषणा की। मोदी ने एक्स पर अपने पोस्ट में लिखा , ‘पश्चिम बंगाल में रेल दुर्घटना दुखद है। जिन लोगों ने अपने प्रियजनों को खो दिया है, उनके प्रति संवेदना। मैं प्रार्थना करता हूँ कि घायल लोग जल्द से जल्द ठीक हो जाएँ। अधिकारियों से बात की और स्थिति का जायजा लिया। प्रभावितों की सहायता के लिए बचाव कार्य जारी है। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव जी भी दुर्घटनास्थल पर पहुंच रहे हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *